प्राण प्रतिष्ठा से पहले रामलला की फोटो लीक, ऐक्शन में ट्रस्ट, अफसरों पर होगी कार्रवाई

22 जनवरी को होने वाली राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा से पहले रामलला की फोटो लीक होने पर अफसरों में हड़कंप मच गया। रामलला की फोटो लीक करने वाले अफसरों पर श्रीराम मंदिर ट्रस्ट ऐक्शन में आ गया।दरअसल ट्रस्ट को शक है कि सोशल मीडिया पर रामलला की जो फोटो वायरल हुई है वह एल एंड टी के अफसरों की तरफ से की गई है। रामलला की फोटो वायरल करने वाले अफसरों पर ट्रस्ट कार्रवाई की तैयारी में हैं। बतादें कि अयोध्या में बन रहे राम मंदिर का निर्माण और डिजाइन इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) की तकनीकी सहायता से लार्सन एंड टुब्रो (एल एंड टी) और टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स की तरफ से किया जा रहा है। माना जा रहा है कि कंपनी के किसी ही किसी कर्मचारी या अधिकारी ने फोटो खींचकर वायरल की है। हालांकि फोटो कहां से वायरल हुई है अभी इसकी पूरी तरह से पुष्टि नहीं हो पाई है।

18 जनवरी को मंदिर के गर्भगृह में विराजमान हुए हैं रामलला

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर के गर्भगृह में 18 जनवरी को रामलला विग्रह को अपने आसन पर स्थापित कर दिया गया। इससे पहले बुधवार देर रात श्रीरामलला की रजत प्रतिमा को पालकी में विराजमान कर श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य एवं यजमान डा. अनिल मिश्रा ने जन्मभूमि परिसर का भ्रमण कराया, जिसमें काशी से आए विद्वान वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पूजन करते रहे। इस दौरान गर्भगृह में पुष्प वर्षा की गयी। पूरे परिसर में जगह-जगह पर सुंदर सजावट भी की गयी थी। गर्भगृह से सिंहासन, पूजन शुरू हो गया है।

दो टन वजनी है रामलला की मूर्ति

मूर्तिकार अरुण योगीराज के द्वारा तराशी गई 51 इंच की प्रतिमा श्याम रंग की है, जिसका वजन दो टन बताया गया है। प्रतिमा को ढक कर लाया गया था, जिसका शुक्रवार को अनावरण किया गया। डीसीएम धर्म पथ, राम पथ और भक्ति पथ से होता हुआ प्रसद्धि हनुमानगढ़ी मंदिर पहुंचा, फिर इसके बाद दशरथ महल के रास्ते रंगमहल से होते हुए रामजन्मभूमि परिसर के गेट पर पहुंचा था। जगह-जगह श्रद्धालुओं ने फूलों से वर्षा कर अपने भगवान का स्वागत किया था और जय श्री राम के जयकारे लगाया था।

तीन दिन रामलला की प्रतिमा का अनावरण

सोशल मीडिया पर रामलला की जो मूर्ति वायरल हो रही है उसका शुक्रवार को अनावरण हो गया है। काले पत्थर से बनी इस प्रतिमा की आंख पर पीले रंग के कपड़ा बांधा गया है। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के पदाधिकारी शरद शर्मा ने बताया कि रामलला की प्रतिमा की आंखों पर पीला रंग का कपड़ा बंधा है और प्रतिमा को गुलाब के फूलों की माला पहनाई गई है। विश्व हिंदू परिषद ने रामलला की प्रतिमा की तस्वीर जारी की और यह प्रतिमा खड़ी मुद्रा में है। अयोध्या स्थित राममंदिर में आगामी 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले भगवान राम की नयी प्रतिमा बृहस्पतिवार अपराह्न में राम जन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह में रखी गई। मैसूरु के मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई 51 इंच की रामलला की प्रतिमा को पिछली रात मंदिर में लाया गया था।

प्राण प्रतिष्ठा समारोह के मुख्य आचार्य अरुण दीक्षित ने बताया कि भगवान राम की प्रतिमा को अपराह्न में वैदिक मंत्रोचार के बीच गर्भगृह में रखा गया। उन्होंने कहा कि ‘प्रधान संकल्प’ ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा द्वारा किया गया। दीक्षित ने बताया कि प्रधान संकल्प की भावना यह है कि भगवान राम की प्रतिष्ठा सभी के कल्याण के लिए, राष्ट्र के कल्याण के लिए, मानवता के कल्याण के लिए और उन लोगों के लिए भी की जा रही है जिन्होंने इस कार्य में अपना योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा अन्य अनुष्ठान भी किए गए तथा ब्राह्मणों को वस्त्र भी दिए गए।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने सोशल मीडिया मंच पर अपनी एक पोस्ट में इसकी जानकारी दी। पोस्ट में कहा गया, अयोध्या में जन्मभूमि स्थित राम- मंदिर में आज दिन में 12:30 बजे के बाद राममूर्ति का प्रवेश हुआ। दोपहर 1:20 बजे यजमान द्वारा प्रधानसंकल्प होने पर वेदमन्त्रों की ध्वनि से वातावरण मंगलमय हुआ। मूर्ति के जलाधिवास तक के कार्य बृहस्पतिवार को संपन्न हुए। ट्रस्ट ने पोस्ट में लिखा, दिनांक 19 जनवरी शुक्रवार को प्रातः नौ बजे अरणिमन्थन से अग्नि प्रकट होगी। उसके पूर्व गणपति आदि स्थापित देवताओं का पूजन, द्वारपालों द्वारा सभी शाखाओं का वेदपारायण, देवप्रबोधन, औषधाधिवास, केसराधिवास, घृताधिवास, कुण्डपूजन, पञ्चभूसंस्कार होगा।

प्राण-प्रतिष्ठा में शामिल होंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 22 जनवरी को मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होंगे, जिसके अगले दिन मंदिर जनता के लिए खोले जाने की उम्मीद है। मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह के अनुष्ठान पहले ही शुरू हो चुके हैं। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को यहां संवाददाताओं से कहा था कि प्राण प्रतिष्ठा समारोह दोपहर 12:20 बजे शुरू होगा और 22 जनवरी को दोपहर 1 बजे तक पूरा होने की उम्मीद है। मंदिर में प्रतिष्ठा समारोह से पहले अनुष्ठान शुरू हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने शुक्रवार को कहा कि रामलला भव्य मंदिर में पधार चुके हैं और 22 जनवरी को प्रतिष्ठा समारोह के लिए पूरा देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बेसब्री से इंतजार कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *