शारदीय नवरात्रि में राशि अनुसार अपनाएं ये उपाय, घर में आएगी सुख-समृद्धि

शारदीय नवरात्रि से मन में उमंग तथा उल्लास की वृद्धि होती है. दुनिया में सारी शक्ति नारी या स्त्री स्वरूप के पास ही है इसलिए नवरात्रि में देवी की आराधना ही की जाती है तथा देवी शक्ति का एक स्वरूप कहलाती है, इसलिए इसे शक्ति नवरात्रि भी कहा जाता है.नवरात्रि के 9 दिनों में देवी के अलग अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है, जिसे नवदुर्गा का स्वरूप कहा जाता है. इस बार शारदीय नवरात्रि 15 अक्टूबर से आरंभ होने जा रही है तथा समापन 24 अक्टूबर को होगा और 10वें दिन दशहरा मनाया जाता है. ऐसे में ज्योतिष शास्त्र में दुर्गा जी को प्रसन्न करने का विशेष उपाय बताया गया है. मान्यता है कि शारदीय नवरात्रि में इन उपायों को करने से मनुष्य पाप रहित हो जाता है तथा जीवन की सारी परेशानियां समाप्त हो जाती है. आइए आपको बताते है शारदीय नवरात्रि में इन 12 राशियों को कौन- कौन से उपाय करने चाहिए.

मेष राशि- मेष राशि का स्वामी मंगल ग्रह को माना गया है. यदि आप नवरात्रि में 9 दिनों तक सिद्धिकुंजिकस्तोत्र का पाठ करते है तो माता आपको मकान, जमीन या वाहन सम्बंधित सुख पा सकते है. इसके साथ ही आप शारदीय नवरात्रि के नौ दिनों तक किसी असहाय लोगों की सहायता करते है तो आपके ऊपर माता रानी की कृपा हमेशा बनी रहेगी.

वृष राशि – वृष राशि का स्वामी शुक्र ग्रह को माना गया है. आप नवरात्रि में 9 दिनों तक सप्तश्लोकी दुर्गा का पाठ करते है तो माता की विशेष कृपा आप पर बनी रहेगी. वित्तीय स्थिति बहुत बेहतर होगी. इसके साथ ही आप माता के नाम का जप निरन्तर करते रहें. ऐसा करने से आपको जीवन में कभी भी कोई बड़ी बीमारियों का सामना नहीं करना पड़ेगा.

मिथुन राशि- मिथुन राशि का स्वामी बुध ग्रह को माना गया है. आप नवरात्रि में दुर्गासप्तशती का पाठ करते है तो माता रानी आप पर प्रसन्न रहेगी. इसके साथ ही आपको जमीन या मकान व वाहन सुख प्राप्त होगा. आपके जीवन से सभी तरह के अनिष्ट का नाश हो जाता है तथा परिवार में सुख-समृद्धि आती है. इसके साथ ही चिंताओं, क्लेश, शत्रु बाधा से मुक्ति प्राप्त होगी.

कर्क राशि- कर्क का स्वामी चंद्रमा को माना गया है. आप नवरात्रि में माता की उपासना के साथ- साथ शिव उपासना भी करें. ऐसा करने से माता रानी आपको साहसी तथा पराक्रमी बनने का वरदान देगी. इसके साथ ही जातक को आध्यात्मिक शक्ति प्राप्त होती है. धन में कभी भी कमी नहीं आती है. परिवार में खुशियां बनी रहती है.

सिंह राशि का स्वामी सूर्य देव को माना गया है. यदि आप शारदीय नवरात्रि में नौ दिनों तक सिद्धिकुंजिकस्तोत्र का पाठ करते है तो संतान को करियर में सफलता मिलेगी. धन की प्राप्ति होगी. इसके साथ आपको श्री रामचरितमानस का सम्पूर्ण पाठ करनी चाहिए, जिसके आपके जीवन में माता रानी के साथ- साथ प्रभु श्री राम की कृपा आपके ऊपर बनी रहेगी.

कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह होता है. आप पूरे नवरात्रि में प्रतिदिन दुर्गासप्तशती एवं अरण्यकाण्ड का पाठ करने से आपके जीवन से सभी तरह के कलह का नाश हो जायेगा. इसके साथ ही छात्रों को विदेश यात्रा करने का अवसर भी प्राप्त हो सकता है और छात्रों को नौकरी में कामयाबी प्राप्त होगी.

तुला राशि का स्वामी शुक्र ग्रह को माना गया है. तुला राशि के लोगों को इस नवरात्रि में सप्तश्लोकी दुर्गा का 8 बार पाठ करना चाहिए. ऐसा करने से आपके जीवन में धन तथा सुख समृद्धि ‘ में वृद्धि आएगी. इसके साथ ही समस्त अमंगलों का नाश होता है. माता की कृपा से सुख-शातिं, यश-कीर्ति, धन-धान्य, आरोग्य, बल-बुद्धि की प्राप्ति होगी.

वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल ग्रह को माना गया है. आप नवरात्रि में दुर्गासप्तशती एवं श्री रामचरितमानस का पाठ करें. इस उपाय को करने से साधक को मानसिक तथा शारीरिक सुख प्राप्त होगा. कोर्ट-कचहरी आदि से जुड़े मामलों में विजय प्राप्ति का वरदान प्राप्त होगा. इसके साथ ही शत्रु बाधा भी दूर होती है.

धनु राशि का स्वामी बृहस्पति ग्रह को बताया गया है. आप इस नवरात्रि में दुर्गासप्तशती का सम्पूर्ण पाठ करें. ऐसा करने से आपको धन की प्राप्ति के साथ- साथ कोई बड़ा पुरस्कार मिलेगा. मकान व वाहन सुख की प्राप्ति होगी. इसके साथ ही आप सिद्धिकुंजिकस्तोत्र व सप्तश्लोकी दुर्गा का भी पाठ करें, जिससे आपके जीवन में सुख समृद्धि आएगी.

मकर राशि का स्वामी शनि है. मकर राशि के लोगों के लिए 4, व 8 के अंक भाग्यशाली होते हैं. मकर राशि के व्यक्ति अति महत्वाकांक्षी होते हैं. यह सम्मान और सफलता प्राप्त करने के लिए निरंतर कार्य कर सकते हैं. शनिदेव का प्रिय रंग काला और नीला है. ऐसे में इस राशि के लोगों को नीले रंग के फूलों से मां दुर्गा की पूजा करनी चाहिए.

कुम्भ राशि का स्वामी शनि ग्रह को माना गया है. आप शारदीय नवरात्रि में राम रक्षा स्तोत्र का पाठ एवं माता के नाम का 100 बार जप करते है तो आपकी संतान को नौकरी में कामयाबी प्राप्त होगी. धन की प्राप्ति होगी. इसके साथ ही आपके जीवन में सभी तरह की विपत्तियों से रक्षा होगी. आप भय व कष्टों से मुक्ति प्राप्त होगी.

मीन राशि का स्वामी गुरु ग्रह को माना गया है. अगर आप पूरे नवरात्रि में दुर्गासप्तशती का पाठ करते है तो आपके जीवन में माता रानी की कृपा बनी रहेगी. इसके साथ ही आपको सुख समृद्धि एवं वाहन सुख प्राप्त होगा. यदि आप व्यापार करने तो आपको उसमे लाभ होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *