पीएम मोदी के खिलाफ दो ट्वीट पर आम आदमी पार्टी को चुनाव आयोग का नोटिस

सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी के लिए निर्वाचन आयोग ने आप को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आम आमदी पार्टी की तरफ से किए गए दो ट्वीट को लेकर चुनाव आयोग ने AAP को यह नोटिस जारी किया है।चुनाव आयोग की तरफ से कहा गया है कि 10 नवंबर 2023 को इस संबंध में भारतीय जनता पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल की तरफ से शिकायत मिली थी। इस शिकायत में आम आदमी पार्टी के एक्स अकाउंट पर की गई दो टिप्पणियों का जिक्र है। शिकायत में कहा गया है कि एक्स पर लिखी गई बातों के जरिए पीएम नरेंद्र मोदी की छवि को खराब करने की कोशिश की गई है।

एक्स पर दो वेबलिंक भी दिए गए हैं। शिकायत में कहा गया है कि पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए इस तरह की बातों से आम आदमी पार्टी ने भाजपा के स्टार प्रचारक और पीएम के छवि को जानबूझ कर गलत पेश किया ताकि चुनाव में खड़े हो रहे पार्टी के प्रत्याशियों पर इसका असर पड़े। ऐसा कर आम आदमी पार्टी ने इन चुनावों में गलत मंशा से वोटरों को अपने पक्ष में करने की कोशिश की है।

चुनाव आयोग ने आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल से कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सोशल मीडिया पर की गई इस अपमानजनक टिप्पणी पर वो अपना पक्ष रखें। केजरीवाल से यह भी पूछा गया है कि चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने पर उनके खिलाफ ऐक्शन क्यों ना लिया जाए।

इस पोस्ट पर EC को ऐतराज

जो शिकायत चुनाव आयोग को मिली थी उसमें कहा गया है कि 8 नवंबर 2023 को आप के एक्स पर एक वीडियो पोस्ट किया गया था जिसमें हिंदी में लिखा गया था, ‘मोदी का दिलचस्प रूटीन जानने के लिए पूरा वीडियो देखें। चुनाव आयोग ने जो नोटिस जारी किया है उसमें कहा गया है कि एक्स पर एक पोस्ट में आप ने वीडियो के जरिए पीएम नरेंद्र मोदी और कारोबारी गौतम अडाणी का जिक्र करते हुए अपनी बात रखी है। एक्स पर किए गए इस पोस्ट को बीजेपी ने असैद्धांतिक, अपमानजनक और बदनाम करने वाला बताया है। बीजेपी ने शिकायत में आयोग से यह भी कहा गया है कि एक्स पर इस वीडियो को बुरी नीयत से डाला गया था। जिस दूसरे पोस्ट को लेकर चुनाव आयोग ने ऐतराज जताया है उसके बारे में जानकारी देते हुए आयोग ने बताया है कि इस पोस्ट में पीएम मोदी और गौतम अडाणी की तस्वीर का इस्तेमाल कर लिखा गया है, ‘मैं, नरेंद्र मोदी जनता के लिए नहीं, अपने मालिक के लिए काम करता हूं।’

EC की राजनीतिक दलों को सलाह

चुनाव आयोग की तरफ से कहा गया है कि पहला वीडियो मध्य प्रदेश के संबंध में है जहां विधानसभा चुनाव 17 नवंबर को होने हैं। चुनाव आयोग ने इसे आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन माना है। चुनाव आयोग ने AAP की टिप्पणियों को अपमानजनक मानते हुए अब आम आदमी पार्टी को नोटिस भेज दिया है।चुनाव आयोग ने कई राजनीतिक पार्टियों को सलाह दी है कि वो चुनाव प्रचार के दौरान मर्यादा का ख्याल रखें। आयोग ने राजनीतिक दलों को चेताया है कि वो किसी के पर्सनल कैरेक्टर पर टिप्पणी करने से बचें। आयोग ने कहा है कि अभी जिस मामले में आरोप लगे हैं वो बातें आम आदमी पार्टी के एक्स हैंडल पर डाला गया है। आम आदमी पार्टी एक राष्ट्रीय पार्टी है और उसे इस तरह की चीजों को पब्लिक डोमन में डालने से पहले तथ्यों का पता लगाना चाहिए। दिल्ली की सत्तारूढ़ पार्टी ने आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *